मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को मिला स्वच्छ राजनीतिज्ञ सम्मान, नित्यानंद स्वामी जन सेवा समिति ने किया सम्‍मानित

नित्यानंद स्वामी जन सेवा समिति द्वारा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को स्वच्छ राजनीतिज्ञ सम्मान 2022 से सम्मानित किया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने संगीत, शिक्षा, उद्योग, चिकित्सा एवं सांस्कृतिक संपदा से जुड़े व्यक्तियों को भी सम्मानित किया।
मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास में प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री स्व नित्यानंद स्वामी की 94 वें जन्मदिवस के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री स्व नित्यानंद स्वामी को नमन करते हुए कहा कि समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति तक सेवा प्रदान करने की उनकी संकल्पबद्धता अभूतपूर्व थी। उनका जीवन सभी के लिए एक प्रेरणापुंज के समान है।
नया उत्तराखंड बनाने के लिए नई ऊर्जा देने का कार्य करेगा सम्मान
प्रथम मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने अंत्योदय के विचार को अपने कार्यों के माध्यम से सिद्ध किया। उन्होंने राज्य के सर्वांगीण विकास की दिशा में अभूतपूर्व कार्य किए। उन्होंने नित्यानंद स्वामी जनसेवा समिति द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की।

उन्होंने कहा कि प्रथम मुख्यमंत्री के स्वच्छ राजनीतिक जीवन से प्रेरित होकर ही सरकार उत्तराखंड को सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने के अपने संकल्प को पूर्ण करने के लिए दिन-रात कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि यह सम्मान उन्हें नया उत्तराखंड बनाने के लिए नई ऊर्जा देने का कार्य करेगा।
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने पदमश्री बसंती बिष्ट, जितेंद्र जोशी, हरेंद्र कुमार गर्ग, डा डीएम काला, प्रेम हिगवाल को सम्मानित किया। उत्तराखंड गौरव सम्मान रस्किन बांड एवं प्रसून जोशी को दिया गया था, उनकी अनुपस्थिति में उनके प्रतिनिधियों ने यह सम्मान ग्रहण किया।
कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, सांसद रेखा वर्मा, राज्यसभा सदस्य नरेश बंसल, उत्तर प्रदेश के पूर्व शिक्षा मंत्री डा अम्मार रिजवी, परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती, समाजसेवी डा एस फारुख व डा आरके बक्शी ने भी अपने विचार रखे।

लोक पर्व हमारी सांस्कृतिक विरासत की पहचान: धामी
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि लोक पर्व हमारी सांस्कृतिक विरासत की पहचान हैं। राज्य की समृद्ध लोक संस्कृति को आगे बढ़ाने के निरंतर प्रयास हो रहे हैं। आने वाले समय में राज्य के अन्य त्योहारों को भी भव्य रूप से मनाए जाने के प्रयास किए जाएंगे। इसमें हम सभी को सामूहिक रूप से जिम्मेदारी निभानी होगी, तभी हम अपनी संस्कृति एवं परंपराओं की जड़ों से जुड़ पाएंगे।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को सचिवालय में अखिल गढ़वाल सभा तथा कूर्मांचल सांस्कृतिक एवं कल्याण परिषद के पदाधिकारियों से भेंट के दौरान यह बात कही।
अखिल गढ़वाल सभा के अध्यक्ष रोशन धस्माना एवं कूर्मांचल सांस्कृतिक कल्याण परिषद के अध्यक्ष कमल सिंह रजवार ने लोक पर्व हरेला एवं ईगास बग्वाल को राजकीय अवकाश की सूची में सम्मिलित किए जाने पर मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।
मुख्यमंत्री को नव वर्ष की शुभकामना देते हुए उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल में किए जा रहे जनभावना से जुड़े कार्यों से उत्तराखंडवासियों में सरकार के प्रति विश्वास और सहयोग का भाव जागृत हो रहा है।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.