अब रसोई गैस के सिलेंडर का वजन कम करने की तैयारी, सरकार ने बताई ये वजह.

अब भारत सरकार रसोई गैस के सिलेंडर का वजन कम करने की तैयारी कर रही है। इसके पीछे सरकार ने महिलाओं को होने वाली परेशानी बताया।



अब भारत सरकार रसोई गैस के सिलेंडर का वजन कम करने की तैयारी कर रही है। इसके पीछे सरकार ने महिलाओं को होने वाली परेशानी बताया। वजन भले ही कम कर लो, लेकिन कहीं ऐसा न हो कि पूरी व्यवस्था में होने वाले खर्च का बोझ भी उपभोक्ताओं के सिर न डाल दो। फिलहाल सरकार का मानना है कि रसोई गैस सिलिंडरों का वजन ज्यादा होता है। सिलेंडर को उठाकर एक जगह से दूसरे जगह पर ले जाना थोड़ा मुश्किल काम हो सकता है। महिलाओं को इसमें दिक्कत आती है। वजन कम हो तो थोड़ी आसानी तो जरूर होगीय़ बहुत सी महिलाएं ऐसी भी होंगी, जो ज्यादा वजन नहीं उठा सकतीं या उन्हें ज्यादा वजन नहीं उठाना चाहिए। ऐसे में अगर गैस सिलिंडर को एक जगह से दूसरे जगह पर ले जाना हो तो दिक्कत खड़ी हो जाती है। जल्द ही महिलाओं की आसानी के लिए सरकार रसोई गैस सिलिंडरों के दाम घटा सकती है।
घरेलू रसोई गैस (एलपीजी) सिलिंडरों का वजन 14.2 किलोग्राम होने से इसकी ढुलाई में महिलाओं को होने वाली परेशानियों को ध्यान में रखते हुए सरकार इसके वजन में कमी लाने सहित विभिन्न विकल्पों पर विचार कर रही है। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूरक सवालों के जवाब में यह जानकारी दी। इससे पहले एक सदस्य ने सिलिंडर के भारी होने से महिलाओं को होने वाली परेशानी का जिक्र किया था।
पुरी ने इसके जवाब में कहा कि हम नहीं चाहते कि महिलाओं और बेटियों को खुद ही सिलिंडर का भारी वजन उठाना पड़े और इसके वजन में कमी लाने पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम एक रास्ता निकालेंगे, चाहे वह 14.2 किलोग्राम वजन को कम कर पांच किलोग्राम का बनाना हो या कोई और तरीका। हम ऐसा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने सदन में हो रहे हंगामे के बीच यह जानकारी दी। उस समय विपक्षी सदस्य 12 निलंबित सदस्यों का निलंबन वापस लिए जाने की मांग करते हुए नारेबाजी कर रहे थे।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.