महाकुंभ 2021: बैरागियों ने पेशवाई में दिखाए करतब, हेलीकॉप्टर से बरसे फूल, श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़.


महाकुंभ 2021: बैरागियों ने पेशवाई में  दिखाए करतब, हेलीकॉप्टर से बरसे फूल, श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़.


जगद्गुरु रामानंदाचार्य स्वामी रामभद्राचार्य ने कहा कि कुंभ मेले का विशाल आयोजन पूरे विश्व के लिए एक सकारात्मक धर्म का संदेश प्रसारित करता है। अखिल भारतीय श्रीपंच निर्वाणी अणि अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत धर्मदास ने कहा कि कुंभ मेले के दौरान देश दुनिया से आने वाले तपस्वी संत अपने अनंत ज्ञान के द्वारा आमजन में आध्यात्मिक ज्ञान का प्रचार करते हैं।

अखिल भारतीय श्रीपंच दिगंबर अणि अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत कृष्णदास नगरिया ने कहा कि श्रद्धा से परिपूर्ण और मनोहारी पर्व कुंभ मेला भारतीय संस्कृति की पहचान है। विदेशी श्रद्धालु भी कुंभ मेले की आलौकिक की छवि से प्रभावित होकर सनातन धर्म अपना रहे हैं। जो भारत के लिए गौरव की बात है।

श्रद्धालुओं ने ऊंट पर सवार 20 फीट लंबी जटाओं वाले संत के साथ जमकर सेल्फी ली। बाबा ने भी भक्तों की इच्छा को पूरी करते हुए उसके साथ सेल्फी ली और उन्हें आशीर्वाद दिया। पेशवाई के दौरान आतिशबाजी का नजारा भी देखने को मिला। पेशवाई में पहली बार मां गंगा की झांकी भी शामिल रही। कृत्रिम मगरमच्छ पर एक बालिका को मां गंगा का स्वरूप देकर बैठाया गया था।

तुलसी चौक पर बैरागी अखाड़ों की पेशवाई में शामिल संतों का अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि, निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि, आनंद पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी बालकानंद गिरि, मां मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्रपुरी ने वैष्णव संतों का फूल माला पहनाकर व पुष्प वर्षा कर स्वागत किया।

पेशवाई के दौरान सबसे पहले पुलिसकर्मी चल रहे थे। इसके साथ ही हर चौराहों व गलियों पर पुलिसकर्मी तैनात रहे। इसके साथ ही आग से बचाव के लिए अग्निशमन विभाग की गाड़ियां भी साथ-साथ चल रही थीं। पेशवाई मार्ग पर सबसे आगे सैनिटाइजेशन का इंतजाम किया गया था। भेल की सैनिटाइज मशीन पूरे रास्ते में दवा का छिड़काव करती हुई चल रही थी।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.