मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने PM Modi से की मुलाकात, साझा की सशक्त उत्तराखंड प्रदेश की थीम

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भेंट कर उन्हें वर्ष 2025 तक उत्तराखंड को सशक्त प्रदेश बनाने के लिए तैयार किए जा रहे रोडमैप की जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि नीति आयोग की भांति राज्य में स्टेट इंस्टीट्यूट फार इंपावरिंग एंड ट्रांसफारमिंग उत्तराखंड (सेतु) के गठन का कार्य प्रारंभ किया गया है। कुपोषण को समाप्त करने और पारंपरिक उत्पादित मोटे अनाज के उत्पादन को बढ़ावा देने को स्टेट मिलेट मिशन लाया जा रहा है।

सशक्त उत्तराखंड@25 थीम साझा करते हुए मार्गदर्शन भी लिया:
मुख्यमंत्री धामी ने मंगलवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी से सशक्त उत्तराखंड@25 थीम साझा करते हुए उनसे मार्गदर्शन भी लिया। उन्होंने प्रधानमंत्री को कंडाली के रेशों से निर्मित शाल भेंट की। धामी ने बताया कि आगामी पांच वर्षों में राज्य की आर्थिकी को दोगुना करने का लक्ष्य रखा गया है।
इसका रोडमैप तैयार करने के लिए मैकिंसे जैसी प्रतिष्ठित एजेंसी को नियोजित किया गया है। चमोली जिले के माणा को प्रदेश का प्रथम गांव मानते हुए वहां कैबिनेट की बैठक प्रस्तावित की गई है। प्रधानमंत्री की उत्तराखंड भ्रमण पर पर्यटकों से कम से कम पांच प्रतिशत व्यय स्थानीय सामग्री खरीदने की अपील को राज्य सरकार ने अपने प्रमुख एजेंडे में सम्मिलित किया है।

11 जिलों में प्राकृतिक खेती:
उन्होंने बताया कि अधिक मूल्य वाली कृषि-बागवानी को 6624 क्लस्टर चिह्नित किए गए हैं। मिशन प्राकृतिक खेती का क्रियान्वयन 11 जिलों में प्रस्तावित है। प्रत्येक जिले में 500-50 हेक्टेयर के दो क्लस्टर का गठन किया जाएगा।

पीएम गतिशक्ति के अंतर्गत राज्य गतिशक्ति मास्टर प्लान तैयार किया जा रहा है। पीपीपी माडल के अंतर्गत सैनिक स्कूल के गठन को चार जिलों में स्थल चयनित किए गए हैं। बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन को विभिन्न उद्योगों के साथ नए एमओयू कराने का प्रस्ताव है।

बरसाती नदियां ग्लेशियर आधारित नदियों से जुड़ें:
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में वर्षा पर निर्भर नदियों को ग्लेशियर आधारित नदियों से जोड़ दिया जाए तो इस अभिनव प्रयोग को लाभ उत्तराखंड के साथ पूरे उत्तर भारत को मिल सकता है।
हिमालयी राज्यों में ग्लोबल वार्मिंग के कारण जल स्रोत का तेजी से ह्रास हो रहा है। इन जलधाराओं के पुनर्जीविकरण को वृहत कार्यक्रम मिशन मोड में करने की प्रबल आवश्यकता है। बहुप्रदेशीय महत्व का यह कार्यक्रम केंद्र सरकार के तकनीकी व वित्तीय सहयोग के बगैर संभव नहीं है।

चौखुटिया में बने नया एयरपोर्ट:
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण के निकट चौखुटिया में नए एयरपोर्ट या हवाई पट्टी की स्थापना का अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि राज्य में सौर ऊर्जा व लघु जलविद्युत परियोजनाओं में निवेश को प्रोत्साहित करने को नवीकरणीय ऊर्जा व लघु जलविद्युत नीति बनाई जा रही है।

मुख्यमंत्री ने जताया प्रधानमंत्री का आभार:
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री से भेंट को महत्वपूर्ण और उत्साहवर्द्धक बताया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने सदैव प्रदेश के विकास के दृष्टिकोण से मार्गदर्शन का भरोसा दिया। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री का आभार प्रकट किया।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.