देहरादून: सादगी से मनाया गया क्रिसमस।



कोरोनाकाल के बीच शुक्रवार को देहरादून में क्रिसमस का त्योहार सादगी से मनाया गया। इस मौक़े पर शहर के पांच चर्चों में क़रीब एक घंटे हुई प्रार्थना के बाद चर्चों को बंद कर दिया गया।

इस दौरान सुरक्षा को ध्यान रखते हुए सभी लोग मास्क लगाए हुए नज़र आए। क्रिसमस पर्व के अवसर पर परेड ग्राउंड स्थित सेंट फ्रांसिस चर्च के बाहर सेंटा ने बच्चों को गुब्बारे बांटे।

क्रिसमस की पूर्व संध्या पर हुई  दो घंटे तक विशेष प्रार्थना:
क्रिसमस की पूर्व संध्या पर शहर के चर्चों में देर शाम दो घंटे तक विशेष प्रार्थना की गई। लोगों ने प्रभु यीशु को याद किया और कोरोना महामारी के खात्मे की प्रार्थना की। वहीं, चर्चों में क्रिसमस पर शुक्रवार सुबह प्रार्थना की जाएगी।

शाम साढ़े 6 से रात साढ़े 8 बजे तक यीशु की पूजा की गई। सभी चर्चों में ईसाई धर्म के लोगों ने प्रार्थना की। कॉन्वेंट रोड स्थित सेंट फ्रांसिस कैथोलिक चर्च में फादर फोस्टीन जॉन पिंटो ने कहा कि प्रभु यीशु ने मानव कल्याण में अपना बलिदान दिया।

उन्होंने मनुष्य को सेवा एवं सत्य की राह पर चलना सिखाया। कहा कि यीशु के बताए मार्ग पर चलकर जीवन को धन्य किया जा सकता है। कोरोनाकाल के चलते इस बार चर्चों में सीमित लोगों की मौजूदगी में प्रार्थना हुई। चर्चों से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लाइव प्रार्थना भी हुई, जिसमें लोगों ने घरों में रहकर हिस्सा लिया।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.