दिल्ली नहीं, उत्तराखंड की राजनीति में रमता है हरदा का मन, सक्रियता से विरोधियों को भी चौंकाया

पूर्व मुख्यमंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता हरीश रावत भले ही कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे की टीम का हिस्सा हों, लेकिन प्रदेश की राजनीति का मोहपाश दिल्ली से उनकी दूरी बनाए हुए है।
बीते दिनों दिल्ली का रुख करने के कुछ दिन बाद ही उत्तराखंड लौटे और उम्र के इस पड़ाव पर भी प्रदेश की राजनीति में अपनी सक्रियता से पार्टी के भीतर और बाहर सभी को चौंका भी रहे हैं। उनकी इस सक्रियता को 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है।

हरदा ने कुछ दिन दिल्ली में बिताए:
विधानसभा चुनाव में लगातार दूसरी बार हार मिलने के दर्द से कांग्रेस उबरी नहीं थी कि चंपावत उपचुनाव और फिर हरिद्वार में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पराजय से पार्टी को किरकिरी झेलनी पड़ी। इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत एक बार फिर पार्टी के भीतर अपने विरोधियों के निशाने पर आ गए थे।

इससे व्यथित हरीश रावत यानी हरदा ने दिल्ली का रुख करने की घोषणा कर सभी को चौंका दिया था। घोषणा के अनुसार हरदा ने कुछ दिन दिल्ली में बिताए। मल्लिकार्जुन खरगे ने राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद उन्हें अपनी पालीटिकल कमेटी का हिस्सा बनाया है। यह अलग बात है कि हरदा का मन आखिरकार उत्तराखंड की राजनीति में ही रमता दिखाई दिया।
दिल्ली से लौटने के बाद 74 वर्ष की आयु पूरी कर चुके हरीश रावत उत्तराखंड में भाजपा सरकार के विरुद्ध खम ठोकने का कोई भी अवसर हाथ से जाने नहीं दे रहे हैं। उनकी सक्रियता केवल दिन में ही नहीं, बल्कि रात में धरना-प्रदर्शन और मशाल जुलूस के रूप में कांग्रेस का नेतृत्व कर रही है।

यद्यपि उन्होंने हरिद्वार हो या देहरादन, अपने तमाम कार्यक्रम प्रदेश संगठन से अलहदा ही रखे हैं। प्रदेश की राजनीति से उनका नेह, कांग्रेस में केंद्रीय स्तर पर उनकी सक्रियता से कहीं ज्यादा है। उनका यही रुख पार्टी के भीतर उनके प्रतिद्वंद्वियों में भी खलबली मचाए हुए है।

सीएम धामी और पूर्व सीएम त्रिवेंद्र के मुरीद नजर आए हरीश रावत:
पूर्व मुख्यमंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता हरीश रावत ने शुक्रवार को प्रदेश का राजनीतिक माहौल गर्मा दिया। यह सब रावत के इंटरनेट मीडिया पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के अलग-अलग फोटो शेयर करने से हुआ।
रावत ने मुख्यमंत्री धामी की जो फोटो शेयर की, उसमें वह एक कार्यक्रम में छोटे बच्चे के जूते की लेस बांधते दिखाई दे रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने इसे फोटो को सराहा और इसे फोटो आफ द मंथ करार दिया। वहीं सुप्रीम कोर्ट से एक मामले में पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को राहत मिलने के बाद हरीश रावत ने उनसे मुलाकात की।
इस फोटो को ट्वीट कर उन्होंने बधाई के साथ ‘सत्यमेव जयते’ की टिप्पणी भी की। अदालत का यह प्रकरण बीते दिनों भाजपा की अंदरूनी खींचतान के रूप में भी सामने आ चुका है। माना जा रहा है कि हरदा ने इस पर अपने ही अंदाज में चुटकी ली।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.