मैदानी जिलों में बारिश।



उत्तराखंड में पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के चलते मौसम ने अपना मिजाज बदल लिया है। रविवार को कई मैदानी इलाकों में बादल छाए रहे और हल्की बारिश हुई।

केदारनाथ और बदरीधाम समेत गढ़वाल और कुमाऊं के पर्वतीय जिलों में बर्फबारी हुई जिससे शीतलहर का प्रकोप तेज हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार और मंगलवार को भी बारिश, बर्फबारी, ओलावृष्टि और बिजली गिरने के आसार हैं।

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार प्रदेश के 2500 मीटर या इससे ज्यादा ऊंचाई वाले इलाकों में हिमपात व मध्यम बारिश की संभावना है। जबकि, गढ़वाल क्षेत्र में कहीं-कहीं मौसम अधिक खराब हो सकता है। इसमें ओलावृष्टि या आकाशीय बिजली भी गिर सकती है।

दो-तीन दिन तक मौसम ठंडा रहेगा:
मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि दो-तीन दिन तक मौसम ठंडा रहेगा। सोमवार को गढ़वाल क्षेत्र में मौसम ज्यादा खराब रहेगा।

चीन सीमा से सटे क्षेत्रों में पांच फुट तक बर्फ:
कुमाऊं में चीन सीमा से सटे ज्योलीकांग, कुटी, कालापानी और लिपुलेख में पांच फुट तक बर्फ गिरी है। पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिले के ऊंचाई वाले इलाक ों में हुए हिमपात से समूचे कुमाऊं में ठंड बढ़ गई है।

अल्मोड़ा में न्यूनतम तापमान माइनस एक, नैनीताल में एक, बागेश्वर में शून्य तो कपकोट में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे रिकॉर्ड किया गया। राहत की बात यह है कि इस बारिश से पिथौरागढ़, बागेश्वर और अल्मोड़ा जिले के जंगलों में धधक रही आग बुझ गई है।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.