उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.धन सिंह रावत ने राज्य की ग्रीष्माकालीन राजधानी गैरसैंण (भराड़ीसैंण) में राज्य की 662 ई-पंचायत सेवा केंद्र का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर उन्होंने ई-पंचायत सेवा केंद्र के लाभार्थियों से ई-संवाद भी किया। इस सेवा के माध्यम से न्याय पंचायत स्तर तक 12 प्रकार की सेवाएं लोगों को आसानी से मिल जाएंगी।

कॉमन सर्विस सेंटरों के माध्यम से उपलब्ध होने वालीं सभी सेवाएं ई-पंचायत सेवा केंद्र के माध्यम से भी उपलब्ध रहेंगी। आने वाले कुछ माह में ई-पंचायत सेवा केंद्रों को ‘अपणि सरकार’ पोर्टल से भी जोड़ा जाएगा।

राज्यमंत्री ने कहा कि इन सेवाओं को और मजबूती देने के लिए ग्राम सभा स्तर पर ई-सेवा केन्द्रों को विस्तारित किया जाएगा। भारत नेट 2.0 के माध्यम से गांव-गांव तक हाई स्पीड नेट पहुंचाने के लिए केन्द्र सरकार ने दो हजार करोड़ रुपये की धनराशि देने के लिए सहमति दी है।

ग्रामीण क्षेत्रों में नेटवर्क की पूर्ण उपलब्धता से इन सेवाओं में और तेजी आएगी और जन समस्याओं का समाधान भी तेजी से होगा। पंचायतीराज मंत्री अरविंद पांडेय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के डिजिटल इंडिया प्रोग्राम की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण पहल है। सरकार का प्रयास है कि लोगों को अपने कार्यों के लिए अनावश्यक रूप से सरकारी कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़ें। उन्हें डिजिटल माध्यम से घर से ही सारी सुविधाएं उपलब्ध हों।

इस अवसर पर विधायक महेंद्र भट्ट, मुख्यमंत्री के आईटी सलाहकार रवींद्र दत्त, निदेशक आईटीडीए अमित सिन्हा, जिलाधिकारी चमोली स्वाति एस भदौरिया, पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान, सीडीओ हंसादत्त पांडे और केन्द्रीय कार्यालय दिल्ली से सीएससी के अधिकारी जुड़े थे।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.