मकर संक्रांति पर्व के मद्देनजर मेला क्षेत्र को सात जोन और 20 सेक्टरों में बांटा गया है।



20 सेक्टरों में एक जीआरपी का सेक्टर भी है। मेले में ड्यूटी के लिए 1550 पुलिस अधिकारी और कर्मचारी तैनात किए गए हैं। प्रत्येक जोन में प्रभारी अधिकारी के रूप में अपर पुलिस अधीक्षक और सेक्टरों में पुलिस उपाधीक्षक को नियुक्त किया गया है।

14 जनवरी को होने वाले मकर संक्रांति पर्व को लेकर मेला पुलिस ने अपनी तैयारी पूरी कर ली है। वहीं यातायात की व्यवस्था आज बनाई जाएगी। मेला नियंत्रण कक्ष में सोमवार को मकर संक्रांति पर्व को लेकर पुलिस ने अपनी कार्य योजना तैयार की। कुंभ मेला आईजी संजय गुंज्याल ने बताया कि इस स्नान को लेकर पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूूटी लगा दी गई है। वहीं मेला क्षेत्र को सात जोन और 20 सेक्टर में बांटा गया है।

वहीं स्नान पर्व पर श्रद्धालुओं के गंगा में पैर फिसलकर बहने और डूबकर मौत होने की घटनाओं पर अंकुश लगाए जाने के लिए जल पुलिस, एसडीआरएफ और आपदा राहत दल की सम्मिलित ड्यूटी सभी जरूरी साजो-सामान, बोट समेत हरकी पैड़ी, भूमा निकेतन, प्रेमनगर आश्रम, जटवाड़ा पुल, नमामि गंगे घाट चंडी घाट जैसे संवेदनशील स्थानों पर लगाई गई है।

इसके अलावा आतंकवादी घटनाओं के दृष्टिगत बम निरोधक दस्ते की पांच टीमों की ड्यूटी मेला क्षेत्र में लगाई गई है। वहीं मेला क्षेत्र से अतिक्रमण हटाने एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए घुड़सवार पुलिस की दो शिफ्टों में 2-2 घोड़ों सहित चार स्थानों पर तैनाती की गई है।
यह रहेंगे जोन:
पहला जोन – हरकी पैड़ी
सेक्टर : हरकी पैड़ी, बेलवाला, रोड़ी
दूसरा जोन – गौरीशंकर
सेक्टर : लालजी वाला, नील धारा, गौरीशंकर
तीसरा जोन – भूपतवाला
सेक्टर : भीमगोडा, भूपतवाला, पंतद्वीप, रायवाला, सप्तसरोवर
चौथा जोन – हरिद्वार
सेक्टर : हरिद्वार, मंशा देवी, मायापुर
पांचवा जोन – कनखल
सेक्टर : कनखल, बैरागी, दक्ष द्वीप
छठवा जोन – सदर क्षेत्र
सेक्टर : ज्वालापुर, रानीपुर
सातवा जोन-जीआरपी
सेक्टर : जीआरपी

चेकिंग करती रहेंगी टीमें:
मेला क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार की विध्वंसक वस्तु अथवा अवैध अस्त्र शस्त्र न ला सके इसके लिए विभिन्न स्थानों पर अभिसूचना इकाई की कई अलग-अलग टीमें हैंड हेल्ड मैटल डिटेक्टर और डोर फ्रेम मैटल डिटेक्टर सहित दिन-रात चेकिंग करती रहेगी। वहीं स्नान पर्व की भीड़ में अपने परिजनों से बिछडकर गुम हो जाने वाले लोगों की खोजबीन के लिए गंगा सभा प्रसारण केंद्र, नगर नियंत्रण कक्ष, रेलवे स्टेशन हरिद्वार पर खोया-पाया केंद्रों की व्यवस्था की गई है।

1246 सीसीटीवी रखेंगे नजर: 
रेडियो संचार व्यवस्था के अतिरिक्त संचार पुलिस की ओर से सीसीटीवी कैमरों के नेटवर्क को संभालने का कार्य भी किया जाएगा। मेला क्षेत्र में सतर्क दृष्टि बनाये रखने के लिए वर्तमान में मैपिंग किये गए 1150 निजी/संस्थागत कैमरों के साथ-साथ 96 पुलिस कैमरों का प्रयोग भी किया जाएगा।

फोर्स की स्थिति:
नागरिक पुलिस बल    1550 अधिकारी-कर्मचारी
बीएसएफ    1 कंपनी
सीआईएसफ    1 कंपनी
सीआरपीएफ    21 कंपनी
आईटीबीपी    1 कंपनी
एसएसबी    1 कंपनी
उत्तराखंड पीएसी    8 कंपनी
एसडीआरएफ    2 टीमें
यातायात पुलिस    273 अधिकारी-कर्मचारी
अभिसूचना इकाई    47 अधिकारी-कर्मचारी

मकर संक्रांति स्नान के बहिष्कार की चेतावनी दी:
गंगा के घाटों पर फूल, प्रसाद, चूड़ी, बिंदी, माला व गंगाजल के लिए कैन बेचने वाले लघु व्यापारियों ने नगर निगम से परिचय पत्र और लाइसेंस जारी न होने पर 14 मार्च के स्नान के बहिष्कार की चेतावनी दी। वहीं लघु व्यापारियों के साथ होमगार्ड के मारपीट की घटना को लेकर विरोध प्रकट किया। संगठन के पदाधिकारियों ने कहा कि होमगार्ड व पुलिस प्रशासन लघु व्यापारियों का उत्पीड़न कर रहा है। संगठन ने मामले की जांच कराकर होमगार्ड और संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की।

रेलवे रोड स्थित कार्यालय प्रांगण में आयोजित बैठक की अध्यक्षता प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा और संचालन प्रवक्ता राजेंद्र पाल ने किया। संजय चोपड़ा ने कहा कि एक अरसे से पीढ़ी दर पीढ़ी गंगा के घाटों व समस्त रोड़ी बेलवाला क्षेत्र में फेरी टोकरी रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारी फेरी के स्थान चिह्नित किए जाने की मांग उठाते चले आ रहे हैं, जबकि भारत सरकार व राज्य सरकार प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर योजना को क्रियान्वित करने के लिए नगर निगम प्रशासन को निर्देश दे चुकी है।

अपनी तैयारियां परखने में जुटा अग्निशमन विभाग:
कुंभ मेले से पहले आयोजित होने वाले मकर संक्रांति पर्व के स्नान को लेकर अग्निशमन विभाग ने भी अपनी तैयारी पूरी कर ली है। बड़ी गाड़ियों के अलावा छोटी गाड़ी व कर्मचारी कहां पर तैनात किए जाएंगे, इसकी रूप रेखा बना ली गई है। स्नान से एक दिन पूर्व गाड़ियों को निर्धारित स्थानों पर तैनात कर दिया जाएगा।

मकर संक्रांति पर्व का स्नान 14 जनवरी को होगा। इसके लिए अग्निशमन विभाग ने अपनी रूपरेखा बना ली गई है। स्नान पर्व को लेकर तीन बड़ी गाड़ी तैनात की गई है। जिसमें से एक पुलिस चौकी हरकी पैड़ी, एक गाड़ी पुलिस चौकी खड़खड़ी व एक गाड़ी नगर कोतवाली के बाहर तैनात की जाएगी। वहीं तीन पंप यूनिट भी लगाई गई हैं। इसमें एक बैरागी कैंप पार्किंग, दूसरी गौरीशंकर पार्किंग व तीसरी मोतीचूर पार्किंग में लगाई जाएगी।

इसके साथ ही मनसा देवी मंदिर व चंडी देवी मंदिर में भी फायर कर्मियों को तैनात कर दिया गया है। वहीं स्नान पर्व से एक दिन पहले ही कर्मचारियों व गाड़ियों को उनके तैनाती स्थल पर भेज दिया जाएगा। वहीं अग्निशमन विभाग की तीन बाइकें शहर में लगातार गश्त करती रहेंगी।

मकर संक्रांति पर्व को लेकर तैयारी पूरी कर ली गई है। जहां पर ड्यूटी लगानी थी, वहां पर कर्मचारी की तैनाती कर दी गई है। कुंभ मेले की तैयारियां इस स्नान के बाद की जाएगी।
– नरेंद्र सिंह कुंवर, मुख्य अग्निशमन अधिकारी, हरिद्वार


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.