अगर आप मसूरी की माल रोड पर घूमना चाहते हैं तो यह न्यूज़ आपके लिए।



अगर आप मसूरी की माल रोड पर घूमना चाहते हैं तो आपको शाम पांच बजे से पहले शहर में एंट्री करनी होगी। इसके बाद कोई भी वाहन माल रोड पर प्रवेश नहीं करेगा। यह निर्णय सोमवार को नगर पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता ने सभासदों व पुलिस प्रशासन की बैठक में लिया। बैठक में निर्णय लिया गया है कि सभी पार्किंग संचालक अपनी रेट लिस्ट भी अनिवार्य रूप से लगाएंगे।

नगर पालिका में हुई बैठक में निर्णय लिया गया है कि माल रोड पर पांच बजे के बाद इमरजेंसी सेवा के अलावा किसी भी वाहन का प्रवेश पूरी तहर से प्रतिबंधित रहेगा। माल रोड के अंदर और बाहर जो भी पार्किंग हैं उसमें पांच बजे से पहले वाहन जा पाएंगे, लेकिन सभी पार्किंग संचालकों को रेट लिस्ट अनिवार्य रूप से लगानी होगी। इसके अलावा अनावश्यक रूप से दौड़ रहे दोपहिया व जगह जगह खड़े वाहनों पर भी सख्ती बरती जाएगी।

नगर पालिका अध्यक्ष ने शहर कोतवाल से ऐसे वाहनों के खिलाफ  कार्रवाई करने को कहा है। नगर पालिका सभासद प्रताप पंवार, जसवीर कौर, दर्शन रावत, कुलदीप रौछेला ने भी पांच बजे के बाद माल रोड पर वाहनों की रोक का समर्थन किया।

शहर कोतवाल देवेंद्र सिंह असवाल ने बताया कि किसी भी वाहन को पांच बजे के बाद माल रोड पर प्रवेश नहीं मिलेगा। माल रोड के बाहर पालिका की स्मार्ट पार्किंग की व्यवस्था रहेगी। शनिवार और रविवार को अगर स्मार्ट पार्किंग में जगह नहीं मिलेगी तो वाहनों को माल रोड के अंदर पार्किंग में भेजा जाएगा।

मसूरी-झड़ीपानी बस सेवा बंद होने से लोग परेशान:
मसूरी-झड़ीपानी बस सेवा पिछले दस माह से बंद है। इससे स्थानीय लोगों के साथ ही टिहरी, चंबा जाने वाले यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोगों की परेशानी को देखते हुए पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता ने परिवहन सचिव को पत्र लिखकर बस सेवा दोबारा शुरू कारने की मांग की है।

परिवहन सचिव को लिखे पत्र में पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने बताया कि कोरोनाकाल के चलते देहरादून-झड़ीपानी-मसूरी और देहरादून-चंबा बस सेवा पिछले दस माह से बंद है। जिससे स्थानीय लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

उन्होंने बताया कि कई बार बस सेवा फिर से शुरू करने के लिए परिवहन निगम के अधिकारियों से कई बार मांग की जा चुकी है, लेकिन इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इससे क्षेत्रीय निवासियों सहित नौकरी पेशा लोगों और छात्रों को आवाजाही में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, झड़ीपानी निवासी प्रेरणा भंडारी ने बताया कि वह मसूरी से देहरादून कॉलेज जाती हैं, लेकिन बस सेवा बंद होने के कारण उनको चूनाखाला या कोल्हूखेत तक पैदल जाना पड़ता है।

वहीं, इस सबंध में परिवहन निगम के महाप्रबंधक दीपक जैन का कहना है कि कोविड-19 के चलते इस रूट पर सवारियां नहीं मिल रही थीं। इसलिए बस संचालन बंद किया गया था। उन्होंने कहा कि बस सेवा का जल्द संचालन शुरू किया जाएगा।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.