आज उत्तराखंड के इस शहर में रहेगा बाजार बंद , किया जाएगा सैनिटाइजेशन का काम.

उत्तराखंड के बढ़ते केसों के बीच सख्ती भी शुरू हो गई है। हल्द्वानी शहर में कोरोना और ओमिक्रॉन के बढ़ते केसों को देखते हुए छह माह बाद प्रशासन ने शनिवार को फिर से बाजार को पूरी तरह से बंद रखने का आदेश दिया है। इस दौरान शहर में शनिवार को लगने वाला शनि बाजार व शॉपिंग माल भी पूरी तरह से बंद रहेंगे। फल-सब्जी व दूध की दुकानें सुबह 11 बजे तक खुली रहेंगी। दवा की दुकानें, पेट्रोल पंप व आवश्यक सेवाएं पहले की तरह सुचारू रहेंगी। सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को भी बंदी से मुक्त रखा गया है।
सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह ने बताया कि शहर में बढ़ रहे ओमिक्रॉन के प्रसार को कम करने के उद्देश्य से शनिवार को शहर की सारी दुकानें पूरी तरह से बंद रखने का निर्णय लिया गया है। व्यापार मंडल के प्रतिनिधियों के साथ हुई वार्ता के बाद यह निर्णय लिया गया है। शनिवार को सिर्फ व्यापारिक प्रतिष्ठानों को ही पूरी तरह से बंद रखने का निर्णय लिया गया है।

इस दौरान कोविड गाइडलाइन के तहत पहले से ही 50 फीसदी क्षमता के साथ चल रहे होटल व रेस्टोरेंट खुले रहेंगे। बंदी के दौरान शनि बाजार को भी पूरी तरह से बंद रखा जाएगा। इस दौरान सुबह 11 बजे तक आवश्यक सेवाओं के तहत दूध, फल-सब्जी की दुकानों को खुले रखने की अनुमति दी जाएगी। शनिवार को शहर के सारे शॉपिंग माल भी पूरी तरह से बंद रहेंगे। दवा की दुकानों, पेट्रोल पंप व आवश्यक सेवाओं को बंदी से मुक्त रखा गया है।

नगर निगम चलाएगा सेनेटाइजेशन अभियान:

सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह ने बताया कि शहर में व्यापारिक प्रतिष्ठानों की बंदी के दौरान नगर निगम बाजार क्षेत्र के साथ ही रोडवेज बस स्टेशन, टैक्सी स्टैंड, ऑटो-रिक्शा स्टैंड, सब्जी मंडी क्षेत्र में सेनेटाइजेशन अभियान चलाएगा। इस दौरान शहर के भीड़भाड़ व अधिक से अधिक लोगों के आवागमन वाले क्षेत्रों में भी सेनेटाइजेशन किया जाएगा। इसके लिए नगर निगम के अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

शहर में शनिवार को व्यापारिक प्रतिष्ठानों में साप्ताहिक बंदी को सख्ती से लागू किया जाएगा। ओमीक्रोन के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए चेन को ब्रेक करने के लिए प्रशासन ने व्यापारियों की मदद से यह निर्णय लिया है। इस दौरान यदि कोई प्रतिष्ठान खुला पाया जाता है तो उसके खिलाफ कोरोना गाइडलाइन के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी।
ऋचा सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट, हल्द्वानी।

कोरोना से बाजारों की रौनक फिर पड़ी फीकी
हल्द्वानी शहर में चुनाव के साथ-साथ कोरोना अपना कहर फिर से बरपाने लगा है। इसका खासा असर व्यापार पर पड़ रहा है। बाजारों में कोरोना संक्रमण के चलते कहीं भी भीड़ देखने को नहीं मिल रही है। अधिकांश दुकादार ग्राहकों का इंतजार करते नजर आ रहे हैं। दो माह पूर्व तक बाजार में त्योहारी सीजन और सहालग के चलते खासा भीड़ थी। व्यापारी इससे उम्मीद लगा रहे थे कि अब बाजार उठेगा।  लोगों को दिक्कतें नहीं होंगी।

उत्तराखंड के बढ़ते केसों के बीच सख्ती भी शुरू हो गई है। हल्द्वानी शहर में कोरोना और ओमिक्रॉन के बढ़ते केसों को देखते हुए छह माह बाद प्रशासन ने शनिवार को फिर से बाजार को पूरी तरह से बंद रखने का आदेश दिया है। इस दौरान शहर में शनिवार को लगने वाला शनि बाजार व शॉपिंग माल भी पूरी तरह से बंद रहेंगे। फल-सब्जी व दूध की दुकानें सुबह 11 बजे तक खुली रहेंगी। दवा की दुकानें, पेट्रोल पंप व आवश्यक सेवाएं पहले की तरह सुचारू रहेंगी। सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को भी बंदी से मुक्त रखा गया है।

सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह ने बताया कि शहर में बढ़ रहे ओमिक्रॉन के प्रसार को कम करने के उद्देश्य से शनिवार को शहर की सारी दुकानें पूरी तरह से बंद रखने का निर्णय लिया गया है। व्यापार मंडल के प्रतिनिधियों के साथ हुई वार्ता के बाद यह निर्णय लिया गया है। शनिवार को सिर्फ व्यापारिक प्रतिष्ठानों को ही पूरी तरह से बंद रखने का निर्णय लिया गया है।

इस दौरान कोविड गाइडलाइन के तहत पहले से ही 50 फीसदी क्षमता के साथ चल रहे होटल व रेस्टोरेंट खुले रहेंगे। बंदी के दौरान शनि बाजार को भी पूरी तरह से बंद रखा जाएगा। इस दौरान सुबह 11 बजे तक आवश्यक सेवाओं के तहत दूध, फल-सब्जी की दुकानों को खुले रखने की अनुमति दी जाएगी। शनिवार को शहर के सारे शॉपिंग माल भी पूरी तरह से बंद रहेंगे। दवा की दुकानों, पेट्रोल पंप व आवश्यक सेवाओं को बंदी से मुक्त रखा गया है।

नगर निगम चलाएगा सेनेटाइजेशन अभियान:

सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह ने बताया कि शहर में व्यापारिक प्रतिष्ठानों की बंदी के दौरान नगर निगम बाजार क्षेत्र के साथ ही रोडवेज बस स्टेशन, टैक्सी स्टैंड, ऑटो-रिक्शा स्टैंड, सब्जी मंडी क्षेत्र में सेनेटाइजेशन अभियान चलाएगा। इस दौरान शहर के भीड़भाड़ व अधिक से अधिक लोगों के आवागमन वाले क्षेत्रों में भी सेनेटाइजेशन किया जाएगा। इसके लिए नगर निगम के अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

 

शहर में शनिवार को व्यापारिक प्रतिष्ठानों में साप्ताहिक बंदी को सख्ती से लागू किया जाएगा। ओमीक्रोन के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए चेन को ब्रेक करने के लिए प्रशासन ने व्यापारियों की मदद से यह निर्णय लिया है। इस दौरान यदि कोई प्रतिष्ठान खुला पाया जाता है तो उसके खिलाफ कोरोना गाइडलाइन के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी।
ऋचा सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट, हल्द्वानी।

कोरोना से बाजारों की रौनक फिर पड़ी फीकी:

हल्द्वानी शहर में चुनाव के साथ-साथ कोरोना अपना कहर फिर से बरपाने लगा है। इसका खासा असर व्यापार पर पड़ रहा है। बाजारों में कोरोना संक्रमण के चलते कहीं भी भीड़ देखने को नहीं मिल रही है। अधिकांश दुकादार ग्राहकों का इंतजार करते नजर आ रहे हैं। दो माह पूर्व तक बाजार में त्योहारी सीजन और सहालग के चलते खासा भीड़ थी। व्यापारी इससे उम्मीद लगा रहे थे कि अब बाजार उठेगा।  लोगों को दिक्कतें नहीं होंगी।

मगर कोरोना ने फिर से व्यापारियों के लिए असमंजस की स्थिति पैदा कर दी है। कुमाऊं का सबसे बड़ा शहर कहा जाने वाला हल्द्वानी शहर चुनाव के साथ-साथ कोरोना की चपेट में है। यहां आए दिन संक्रमण बढ़ने के साथ-साथ कई इलाके कंटेंनमेंट जोन बनाए जा रहे हैं। इससे लोगों में एक तरफ दहशत का माहौल है तो दूसरी तरफ बाजार से रौनक गायब होती जा रही है। व्यापारियों के पास पुराने स्टॉक के चलते नया स्टॉक रखने तक को जगह नहीं है। वहीं शॉपिंग मॉल में दिन दोगुनी रात चौगुनी कमाई हो रही है।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.