उत्तराखंड के रोडवेज कर्मचारियों के लिए राहत की खबर है।



उत्तराखंड के रोडवेज कर्मचारियों के लिए राहत की खबर है। कर्मचारियों को दीपावली से पहले एक महीने का वेतन मिलेगा। साथ ही आंदोलनरत कर्मचारियों से रोडवेज को हुए नुकसान की वसूली की कार्रवाई नहीं की जाएगी।

प्रार्थना पत्र दिए जाने पर अनुपस्थित कर्मचारियों का अवकाश मंजूर किया जाएगा। कर्मचारियों की 26 अक्तूबर को प्रबंध निदेशक कार्यालय में हुई बैठक का कार्यवृत्त जारी किया गया है। इसके बाद आंदोलनरत कर्मचारियों ने आज होने वाली प्रदेश भर में धरने एवं कार्यबहिष्कार के कार्यक्रम को स्थगित कर दिया।

निगम के प्रबंध निदेशक रणवीर सिंह चौहान की ओर से जारी कार्यवृत्त में कहा गया है कि दीपावली से पहले कर्मचारियों के एक महीने के वेतन का भुगतान करने का प्रयास किया जा रहा है। यदि अतिरिक्त धनराशि की व्यवस्था हुई तो एक महीने का और भुगतान किया जाएगा। सेवानिवृत्त एवं मृतक कर्मचारियों के देयकों के लिए भी निगम प्रयासरत है। बैठक में संगठन प्रतिनिधियों की ओर से बताया गया कि दीपावली के त्योहार के अवसर पर निगम की लगभग सभी बसों को चलाया जाएगा।
यदि यात्रियों की अधिक संख्या रही तो अनुबंधित बसों को भी चलाने पर विचार किया जाएगा। बसों के संचालन में बढ़ोत्तरी होने पर प्रोत्साहन योजना को फिर से शुरू करने पर विचार किया जाएगा। कार्यवृत्त में यह भी कहा गया है कि निगम की परिसंपत्तियों के व्यवसायिक उपयोग के संबंध में निदेशक मंडल से निर्णय हो चुका है। निगम अधिकारी कर्मचारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गोसाई ने कहा कि बैठक में यह भी तय हुआ है कि हरिद्वार रोड स्थित वर्कशॉप की जमीन को एमडीडीए को दिया जाएगा।

इसके बदले आईएसबीटी को निगम को दिया जाएगा। एमडीडीए बोर्ड की बैठक में इसका प्रस्ताव आएगा। बैठक में निगम के महाप्रबंधक हरगिरी, महाप्रबंधक दीपक जैन, उप महाप्रबंधक संजय गुप्ता, रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रांतीय अध्यक्ष विक्रम सिंह डंगवाल, प्रांतीय महामंत्री दिनेश पंत, संयुक्त मंत्री प्रेम सिंह रावत, उप महामंत्री विपिन बिजल्वाण, भूपेंद्र अधिकारी आदि मौजूद रहे।


लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -


👉 सच की आवाज  के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 सच की आवाज  से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 सच की आवाज  के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -


👉 www.sachkiawaj.com


Leave a Reply

Your email address will not be published.